Flipkart success story in Hindi : Sachin bansal की कहानी – Derdigit

Flipkart success story in Hindi

आज हम जानेगे भारत को आत्मनिर्भय (Aatmanirbhar Bharat) बनाने के लिए सबसे बड़ा हाथ अगर किसी company का होगा तो वो हे flipkart. तो आज हम जानेगे flipkart success story in Hindi

क्यों की flipkart एक भारतीय company हे और भारत में amazon के बाद में आने वाली सबसे बड़ी online shoping company हे.

आत्मनिर्भर भारत(Aatmanirbhar Bharat) की रीड की हडी flipkart : Flipkart success story in Hindi

  • क्यों की flipkart भारतीय company हे.
  • Company में काम करने वाले भी भारतीय हे.
  • flipkart लोकल प्रोडक्ट भी प्रोमोट करती हे.
  • लेकिन सबसे बड़ी प्रॉब्लम ये हे की flipkart के 82% share Walmart खरीद लिया हे.
  • लेकिन flipkart का कुछ हिसा बाचा हुआ हे तो वो भारत की GDP में हेल्प कर सकता हे.

flipkart के मालिक की कहानी : Sachin bansal

Flipkart success story in Hindi
Flipkart success story in Hindi

देश की सबसे मशहूर online Shopping कंपनी Flipkart की कहानी शुरू की सचिन बंसल और अपने दोस्त बिन्नी बंसल ने. Founder of flipkart और Owner of flipkart (सचिन बंसल).

Success Story of PolicyBazaar

American e-कामर्स कंपनी Amazon के दो पुराने कर्मचारी सचिन बंसल व बिन्नी बंसल की पहली मुलाकात 2005 में IIT दिल्ली में हुई और दोनों ने एक company शुरू करने का सोचा.

लेकिन उसके पास अनुभव तो e-कॉमर्स का ही था तो वो उसी में कूद पड़े. और दोनों ने थोड़े पेसे इन्वेस्ट किये और वेसे 4 लाख रूपे से शुरु, 2007 में एक नयी कंपनी फ्लिपकार्ट जन्म हुआ.

Flipkart की शुरूआत : Flipkart success story in Hindi

Flipkart success story in Hindi
Flipkart success story in Hindi

आज के टाइम में सफल भारतीय कंपनियों की सूचि में फ्लिपकार्ट(flipkart) आती हे. लेकिन flipkart के पीछे सोच यही थी की लोगो को वो online किताबें बेच सके और उनके घर तक पोहोचा सके.

पहले साल इस कंपनी को किसी ने बहोत ज्यादा गंभीरता से नहीं लिया. लोगों को लग रहा था कि यह online वाला आईडिया India में तो चलने वाला नहीं हे.

क्युकी India में लोगो की खरीदी देख-परख के बाद ही होती हे तो ये आईडिया चलेगा नहीं एषा लगता था और पहले साल में सिर्फ 20 खेप का ही ऑर्डर मिला था.

RedBus Success story in Hindi

लेकिन दो-तीन साल के शुरुआती बड़े संघर्ष के बावजूद कंपनी चलती रही. लेकिन 2010 इस कंपनी ने मनो पलट वार किया.

अन्य प्रोडक्ट के साथ साथ इलेक्ट्रोनिक्स चीजे भी बेचने लगे जेसे की मोबाइल, हड्फोने, कैमरा वगेरे. इसके बाद इस कंपनी को मानों पीछे मुडकर देखने का भी समय नहीं मिला.

flip-kart की सफलता के बाद मनो भारत में online शौपिंग और सर्विस देने वाली company की भरमार हो गई और आज के डोर मे 35 बिलियन डोलर हे वो बढकर 2026 में 200 बिलियन डोलर हो जाएगी Online शौपिंग मार्किट(e-कॉमर्स).

flipkart की पूरी यात्रा  : flipkart History / Success story

Flipkart success story in Hindi
Flipkart success story in Hindi
  • जनवरी 2005 : सचिन बंसल और बिन्नी बंसल की दिल्ही IIT मुलाकात
  • अक्टूबर 2007 : बंगलौर के एक अपार्टमेंट में Flipkart की शुरूआत
  • जनवरी 2008 : बैंगलोर में पहला office खुला और 3400 ऑर्डर्स डिलीवर हुए
  • सितंबर 2009 : 1 अरब डोलर की फंडिंग मिली और 2 से 150 लोगो की टीम उई
  • दिसंबर 2010 : flipkart ने WEREAD को ख़रीदा और पहली कंपनी खरीदी
  • सितंबर 2011 : MIME360 को ख़रीदा
  • फरवरी 2012 : ई-टेलर लेट्स बाय को ख़रीदा 2.5 करोड़ डोलर की डील हुई
  • जुलाई 2013 : online paymet सलूशन PAYZIPPY लौन्च किया 16 करोड़ डोलर की फंडिंग मिली
  • सितंबर 2013 : एंड्राइड app लौन्च की
  • मई 2014 : Myntra को ख़रीदा और flipkart की वैल्यू 2 अरब डोलर पॉहोची
  • जुलाई 2014 : 1 अरब डोलर की फंडिंग हासिल की
  • दिसंबर 2014 : company की कुल वैल्यू 11 अरब डोलर हो गई
  • अप्रैल 2015 : ADIQUITY और APPLTERATE को ख़रीदा
  • नवंबर 2015 : flipkart Light लौन्च किया
  • जनवरी 2016 : सचिन बंसल ने CEO पद छोड़ा और बिन्नी बंसल CEO बने
  • अप्रैल 2016 : flipkart ने Phonepe और जेबोंग को ख़रीदा
  • अगस्त 2017 : सॉफ्टबैंक के विज़नफण्ड ने 1.5 अरब डोलर की फंडिंग दी
  • मई 2018 : walmart ने flipkart की 77% हिस्सेदारी खरीदी और सचिन ने flipkart छोड़दी.
  • नवंबर 2018 : व्यक्तिगत कदाचार के आरोप के बाद बिन्नी ने भि इस्तीफा दे दिया लेकिन flipkart बोर्ड के      मेम्बर अभी भी बने हुए हे
  • flipkart 2020 : CEO – Kalyan Krishnamurthy
  • Flipkart Networth : 43,615 Crore
  • flipkart Employees : 36,000
  • Flipkart Subsidiaries : Myntra, Jabong, Phonepe, Ekart, Jeeves, 2GUD
  • Flipkart Alexa Rank : ग्लोबल 165 और भारत में 21 हें
  • अभी flipkart के 82% शेर walmart के पास हे

वेसे भी हमारा भारत आत्मनिर्भर भारत(Aatmanirbhar Bharat) बनाने जा रहा हे तो हमारे देश की company को ज्यादा फायदा होने वाला हे. तो मेरा मानना यह हे की भारत में और ज्यादा online Shopping वेबसाइट आनी चाहिए और इतनी तरकी करनी चाहिए.

Bill Gates Biography in Hindi

फ्लिप्कार्ट कीसफलता का मंत्र : Flipkart success story in Hindi

Flipkart success story in Hindi
Flipkart success story in Hindi

सफलता और असफलता जीवन में आती रहती हे वो दोनों एक ही सिक्के दो पहलु हे.हर व्यक्ति जीवनमे सफल और असफल होता रहता हे.अगर मेले असफलता तो डट कर उसका सामना करना चाहिए और सफलताकि और आगे बढ़ते रहना ही जीवन हे.

flipkart के साथ भी बिलकुल ऐसाही हुआ हे. इसकी सफलता के कुछ अपने मूल मंत्र है. जिसको फॉलो करके flipkart ने इंतनी जल्दी सफलता हासिल की.

  • आसान सेवा देना –  flipkart हमेसा मानती थी की कस्टमर को सबसे आसानीसे सबकुछ सेवाए मिलती रहे
  • आसान वेबसाइट – Flipkart की वेबसाइट भी बहोत आसन बनाई हे जिसे हर कोई व्यक्ति आसानीसे उपयोग कर सके.
  • सेवाए – Home डिलीवरी, सबसे जल्दी सामान पोचना, सामान Return policy वगेरे सेवाए दी.
  • भुगतान के कई तरीके – Cash on Delivery (COD), सभी प्रकार के Cards जेसेकी Debit Card और Credit Card, Paytm, phonePe और भी बहोत सारे वोलेट(UPI) का इस्तमाल कर सलते हे.

अगर आप भी अपने कोई आईडिया को online लेजाके बहोतसारा इनकम स्त्रोत बना सकते हे तो आपको ये Flipkart success story in Hindi आर्टिकल जरुर मदद आएगा.

अगर इस Flipkart success story in Hindi आर्टिकल में आपको कुछ अच्छा लगा हो तो आप हमे कमेंट करके प्रोत्साहित कर सकते हे Thanks For Reading….

JAY HIND – Aatmanirbhar Bharat

Motivational Short Stories in Hindi : Moral stories

Motivational Short Stories in Hindi

दोस्त स्वागत हे आपका इस आर्टिकल Motivational Short Stories in Hindi : Moral stories में आज हम एसी 2 Moral stories जानेगे जिसे हमें Motivation मिल सकता हे और उसे हम जीवन में अपना सकते हे.

  1. एक मेढक की कहानी : Motivational stories
  2. बिना सोचे कोई काम मत करो : Moral stories

तो आये शुरू करते हे बिना किसी वक्त को बर्बाद किये Motivational Short Stories in Hindi वो भी अपनी भाषा हिंदी में.

1- एक मेढक की कहानी : Motivational stories in Hindi

Motivational Short Stories in Hindi : Moral stories
Motivational Short Stories in Hindi : Moral stories

एक गाव हुवा करता था जहा पर बहोत सारी नदिया बहती थी और वो गाव बड़ा खुश माहोल में था और वही पर नदी किनारे एक मेढक का पूरा group रहता था. और वो मेदक का पूरा group एक दिन जंगल की और जा रहा था.

और उसी टाइम में दो मेंढक एक गहरे गड्ढे में गिर गये और चिलाने लगे. तो वहा पर जो दूसरे मेंढकों ने देखा कि गढ्ढा बहुत गहरा है.

Success Story of RedBus in hindi

खड़े के उपर वाले मेढक बोलने लगे  और चिल्लाने लगे ‘तुम दोनों मेढक इस गढ्ढे से नहीं निकल सकते, गढ्ढा बहुत गहरा है हम तुमारी कोई मदद नहीं कर सकते.

तुम दोनों इस खड़े से निकलने की उम्मीद छोड़ दो. तुम दोनों कभी बहार नहीं निकल सकते. Motivational Short Stories in Hindi

लेकिन वो दोनों मेढकों ने ऊपर खड़े मेंढकों की बात नहीं सुनी और गड्ढे से निकलने की लिए लगातार मेहनत की और उछलते रहे.

Main Part of Motivational Short Stories

बाहर खड़े मेंढक उन्हें लगातार समजाते रहे ‘तुम दोनों ऐसेही मेहनत कर रहे हो, तुम्हें हार मान लेनी चाहियें और बेठ जाना चाहिए, तुम नहीं निकल सकते, तुम हमारी बात मान लो, मेहनत मत करो, थक कर जल्दी मरजावोगे.

गड्ढे में गिरे दोनों मेढकों में से एक मेंढक ने उपरवाले मेंढकों की बात सुन ली और मान ली, और उछलना छोड़ कर वो निराश होकर एक कोने में जाके बैठ जाता हे. दूसरे मेंढक ने अपना काम जारी रखा और वो उछलता रहा जितना वो उछल सकता था. Moral Stories Reading ….

बहार खड़े सभी मेंढक उन्हें कहने लगे की भाई तुम हार मानलो तुमसे न हो पायेगा और वो लगातार कह रहे थे पर वो मेंढक शायद उनकी बात मान नहीं रहा था और सुन भी नहीं रहा था.Motivational Short Stories in Hindi

वो लगातार उछलता रहा और प्रयाश करता रहा और काफी कोशिशों के बाद वो बाहर आ गया और सभी मेंढक देख ते रह गए की ये केसे हो गया हमने तो बोला ता की या कभी बहार नहीं आ सकता हे.

तो group में से एक मेढक बोला की तुम हमारी बात क्यों नहीं सुन रहे थे, तो बहार निकला हुआ मेंढक बोलता नहीं हे लेकिन इशारे से संजय की में सुन नहीं सकता हु में बेहरा हु.

इसलिए वो किसी की भी बात नहीं सुन पाया. वो तो यह सोच रहा था कि सभी उसका उत्साह बढ़ा रहे हैं. 

Moral Of The Story | Learning From The Story

1. जब भी हम बोलते हैं उनका असर हमारे आसपास के लोगों पर पड़ता है, इसलिए हमेशा सकारात्मक (Positive) बोलें. 

2. लोग चाहें जो भी कहें आप अपने आप पर पूरा विश्वास रखें.

3. कड़ी मेहनत के लिए हमेशा अलर्ट, अपने ऊपर विश्वास और सकारात्मक सोच से ही हमें सफलता और रिजल्ट मिलता है. 

2 – बिना सोचे कोई काम मत करो – Moral Story in Hindi

Motivational Short Stories in Hindi : Moral stories
Motivational Short Stories in Hindi : Moral stories

एक किसान ने अपने छोटे से खेत में एक नेवला पाल रखा था. नेवला होशियार चतुर और अपने मालिक के प्रति बहोत भाव रखता था. एक दिन किसान अपने काम से कहीं गया था.

किसान की जो पत्नी थी उसने अपने छोटे बच्चे को दूध पिला कर सुला दिया और वो वहा पर नेवले को छोड़ दिया था ओर वह गड़ा और रस्सी लेकर कुएं पर पानी भरने जाती हे.

Success Story of Policybazaar

किसान की स्त्री के चले जाने पर वहां एक काला सांप बिल में से निकल आया | बच्चा निचे जमीं पर कपड़ा बिछाकर सुलाया हुआ था और सांप बच्चे की ओर ही आ रहा था. Moral Stories

नेवले ने देखा की साप बचेकी और ही जा रहा हे तो उसने सांप को काटकर टुकड़े-टुकड़े कर डाला और साप को मार दिया.Motivational Short Stories in Hindi

अब वो राह देख रहा था की बचेकी मा कब आये. जब किसान की स्त्री घड़ा भर कर लौटी उसने घर के बाहर दरवाजे पर नेवले को देखा.

Main Part of Moral Stories

और स्त्री समज गई की नेवले ने मेरे बचे को खा लिया हे तभी तो उसका मुख रक्त से लतपत हे, और वो सिन देख के उसको बहोत गुस्सा आया और वो पानी का धडा उसने नेवले पर पटक दिया और वो तड़प तड़प कर मर गया.Motivational Short Stories in Hindi

नेवले को मरने के बाद वो अपने घर में दोड कर जाती हे और उसने देखा कि उसका बच्चा सुख से सो रहा है, और वाही पर एक काला साप मरा पड़ा हुआ हे.

स्त्री को उसकी भूलको समज गई और दौड़ कर फिर नेवले के पास आई और नेवले को गोद में उठा कर वो जोर जोर से रोने लगी.

लेकिन अब उसके रोने से क्या फायदा ???

इसलिए कहा है – 

बिना विचारे जो करें, सो पाछे पछताए |

काम बिगारे आपनो, जग में होत हंसाय ||

Moral Of The Story | Learning From The Story

  1. जिंदगी में सारे निर्णय सोच समज कर ले ना की गुस्से में.
  2. गुस्से में लिया गिया निर्णय परिणाम बहोत खराब आ सकता हे.
  3. जल्दबाजी में लिए जनि वाले निर्णयसे बादमे पछताना पड़ेगा.

ये Motivational Short Stories in Hindi : Moral stories आर्टिकल आपको केसे लगा और ये story केसी लगी आप हमें जरुर वतायेगा कमेंट में. ये story पढ़ने के लिए आपका बहोत बहोत शुक्रिया

जय हिन्द

On page seo checklist : 15 on page Seo checklist in Hindi in India 2020 – Derdigit

15 on page Seo checklist in hindi in india 2020

हम ये भी जानते हे की आजे भी ब्लॉग को Google में रैंक करवाने के लिए Backlinks नंबर 1 पार्ट हे लेकिन हम on page seo को भी हम कम नहीं आक सकते वो भी काम करता हे रैंकिंग बढ़ने में.लेकिन On page seo checklist जानना बहोत जरुरी हे.

यहाँ पर में आपको 15 on page Seo checklist देता हु जो करने से आपको Google ranking जरुर बढेगी में गारेंटी देताहू जो आप इसे सही तरीके से इम्पलीमेंट करो तो आपका rank जरुर उपर आएगा.

1 – IN FRONT LOAD : TITLE TAG OR KEYWORD – On page seo checklist

Google सबसे ज्यादा महत्व या तो (weigh on word) देता हे जो Word और Keyword उसको Starting में दिखाई देता हे उसमें.

आप Google में जाके देख सकते हे कोई भी Competitive keywords search करो तो आपको पता चलेगा की वो सबसे पहले आने वाले keywords का रिजल्ट पहले देता हे. 

Example में आप निचे देख सकते हो की क्या हे Front में आने वाले Title की वैल्यू क्या हे.

On Page Seo Checklist

जैसा कि आप देख सकते हैं उपर की image में, Competitive keywords के लिए रैंक करने वाले जज्यादातर website अपने Title Tag की शुरुआत में अपने keywords को strategically रूप से रखते हैं ताकि जल्दी से rank कर्जाय.

Success story of policy bazaar in Hindi

उदाहरण के लिए, मान लें कि आप “weight loss tips” keyword को रैंक करना चाहते हैं और आपके पास 2 टाइप्स के keywords हे.

Title Keyword #1: weight loss tips : 10 effective tips for weight loss in 30 days. Title keyword #2: 10 tips on how to loss weight in 30 days.

Google अपने search रिजल्ट में पहले title “weight loss tips” को पहले दिखायेगा compare to second

एसा क्यों ?? क्यों की google सबसे पहले आने वाले keywords को पहले दिखता हे और पीछे आनेवाले keywords को वो बाद में दिखता हे.

तो आपको title देना हे जो मेने आपको “ Title Keyword 1” बताया हे वेसे ही.

Conclusion : आपको आपने Targeted keywords को Title में सबसे पहले रखना हे.

2 – ADD TARGETED KEYWORD IN THE BEGINNING OF YOUR POST : On page seo checklist

आपको पता ही हे की आपका keyword आपकी पोस्ट के पहले पेरेग्राफ में आना बहोत जरुरी हे.

लेकीन में आपको बतादु की आपके पहेले 3 परेग्राफ में आपका keyword आता हे तो वो बहोत हेल्प करेगा आपको जल्दी ranking दिलाने में.

अगर दूसरे शब्दों में कहू तो , Google आपके पहले पेरेग्राफ पर किसी keyword को देखता तो वो पूरा ध्यान देता है उस पर और उसे रिजल्ट के रूप में प्रकाशित करता हे.

अगर आप एक अच्छे blogger बनने जा रहे हो तो आपको ये On page seo checklist जानना बहोत ही जरुरी हे

Conclusion : अपने Targeted keyword को अपने पोस्ट के पहले 3 पेरेग्राफ होना बहोत जरुरी हे.

3 – SEO-FRIENDLY URL OR SLUG : On page seo checklist

मेने देखा हे की लोग आपनी पोस्ट का URL 40-50 words का रख ते हे जेसे की For Example :  URL : https://www.dummies.com/education/math/statistics/how-to-calculate-standard-deviation-in-a-statistical-data-set/   

ये हे Actual url of the post….

लेकिन में आपको बताता हु short url का फायदा हे, अगर आप शोर्ट url बनाते हो तो ranking में ज्यादा फायदा हे केसे ? ये भी फायदा करता हे SEO में ?

क्यों की जब आपके पोस्ट के रिलेटेड कोई search करता हे तो google को find करने में ज्यादा आसानी रहेगी आपका url अगर short हो तो.

Google को सिर्फ ये देखना होता हे की search करने वाले को जल्दी से और परफेक्ट इनफार्मेशन दी जाय.अगर आपका url short रहेगा तो google को find करने में आसानी होगी और वो जल्दी result show कर पायेगा.

Create short and sweet URLs साथ में keyword भी आना चाहिए ये बसे हे On page seo checklist में.

अगर आपके url में Date or Category हे तो आपकी पोस्ट का url long हो ही जायेगा तो उसे आपकी इमेक्ट Wrong पड़ेगी Google search में.

तो आपका url केसा होना चाहिए for example : https://www.derdigit.com/post-name (include Targeted keyword)

Conclusion : Create short and sweet URLs that include your target keyword.

4 – ADD IMAIGE/VIDEO IN BLOG POSTS : On page seo checklist

अपनी कोई भी पोस्ट में आप जरुर MULTIMDEDIA Use करे जेसे की Images, Videos, List, screenshort वगेरे आप जरुर उसे करे.

पर में आपको ये सब Add करने के लिए क्यों बोल रहा हु इसे क्या फायदा हो सकता हे हमरे ranking में.

On Page Seo Checklist 2020

Images और Videos आपकी पोस्ट का User-interaction बढ़ा देता हे जिसे google का Attension बढ़ जाता हे और ये ज्यादा users को दिखाना सुरु कर देता हे.

मल्टीमीडिया हमारी साईट की perceived value को बढ़ा देता हे जिसे हमारी ranking भी बढती हे.

Conclusion : Add minimum 2-3 images और If Possible so add 1 Video in your content.

5 – ADD YOUR TARGET KEYWORD (OR A SYNONYM) IN AN H1 TAG : On page seo checklist 2020

आपको पता ही हे की H1 Tag ये अपने पोस्ट का Heding के बाद आने वाला Subheding हे.

बहोत सारे platforms जेसे की wordpress और blogger वगेरे ऑटोमेटिकली अपने Blog Title को H1 Tag में ले लेते हे.

Small scale business idea in Hindi

आप कोई भी themes उसे करते हो तो भी आपके पोस्ट का title H1 tag में आना बहोत जरुरी हे ranking और seo के पोईन्ट से.

Conclusion : Blog Post Tital और keyword (synonym) make Always in H1 Tag.

6 – USE MODIFIERS IN TITLE TAG : On page seo checklist 2020

Modifier उपयोग करनेसे बहोत बड़ा फायदा मिल जाता हे Longtail Keywords Searches में.

अगर आप google keyword planner use करते हो तो आपको पता चलेगा की लोग बहोत ज्यादा long keywords को भी search करते हे, जो ली 5 से 9 word का keywords होता हे.

आपके पोस्ट के Tital में अगर मोडिफिएर वर्ड हे तो ज्यादा posibility बनजाती हे आपकी पोस्ट google के first पेज में आनेकी, इसे आपकी ranking में बहोत ज्यादा फायदा मिलने वाला हे.

Modifier words होते केसे हे for example – In 2020, Best, Top, Guide, Review, ways वगेरे 

Conclusion : use minimum 1-2 Modifier words in your title tag.

7 – ADD LSI KEYWORDS IN YOUR POST : On page seo checklist 2020

LSI(Latent Semantic Indexing) मतलब की आपके title या title tag से मिलते जुलतेwords को ऐड करो अपने article में.

इसे क्या होगा कोई search अलग words से करते हे या उसे मिलतेजुलते words से करता हे तो भी वो आपकी वेबसाइट आनि चाहिए रिजल्ट में.

इसे क्या होगा कोई search अलग words से करते हे या उसे मिलतेजुलते words से करता हे तो भी वो आपकी वेबसाइट आनि चाहिए रिजल्ट में.

For example : जेसा की आपने “weight loss” में आर्टिकल लिखना हे तो उसे मिलतेजुलते words आने जेसे की “Supplements”, ““dieting”, “fat loss”, ““nutrition” तो ये सब words को LSI keywords बोलते हे.

जब Google आपके Targeted keyword के चारों ओर उन शब्दों को देखता है, तो यह उन्हें विश्वास दिलाता है कि आपके आर्टिकल गुणवत्ता बहोत अच्छी हे.

जेसे की google के निचे के भाग जो आने वाला related search result में दिखाने वाले keywors को भी आप LSI keyword के डोर पर उसे कर सकते हे.

Conclusion : Use maximum LSI keywords in your Article.

8 – USE INTERNAL LINKING : on page seo checklist 2020

अगर आप अपने ब्लॉग में ज्यादा टाइम तक अपने User/Visiter को रखना चाहते हो तो आपको सबसे ज्यादा हेल्पफुल रहेगा वो हे Internal Linking अपनी Bounch Back Rate को कम रखता हे.

और अगर internal linking का सबसे बड़ा कोई example हे तो वो हे Wikipidia

on page seo checklist 2020
on page seo checklist 2020

Conclusion : Use minimum 2-3 internal Links in your post.

9 – USE OUTBOUND LINKS : on page seo checklist 2020

Google हमको web के एक active Member के रूप में देखना चाहता है. इस लिए हमें web में अच्छी छाप छोड़ ने के लिए आप outbound links use जरुर करे.

Conclusion : Add minimum 2-3 outbound links related to your sites niche.

10 – IMPROVE SITE LOADING SPEED : on page seo checklist 2020

अगर user को साईट में लाना हे तो वो सबसे important बात हे आपके पोस्ट का हेडिंग लेकिन क्लिक होने के बाद में ज्यादा टाइम लेगी site loading होने में तो user कोई और साईट पर चला जायेगा.

इसे आपका bounch back rate ज्यादा बढ़ जायेगा और आपकी रेटे की ranking डाउन हो सकती हे
आप Google के अपने Pagespeed Insights का उपयोग करके आसानी से अपनी साइट की loading Speed को देख सकते हे और सुधार भी कर सकते हैं.

Conclusion : आपकी साईट की स्पीड बहोत Matter करती हे तो speed improve करनेके लिए आप WP Rocket और WP Smush It वर्डप्रेस Plugins का उसे करे.

11 – ADD SOCIAL SHARING BUTTONS : on page seo checklist 2020

अगर आपका आर्टिकल या लेख लोगो को पसंद आया हो और वो दुसरे के साथ शेयर करना चाहता हे तो क्या करेगा ??

तो आप उसे वो फैसिलिटी provide करो की वो आसानी से सबके साथ शेयर कर सके.

Conclusion : Add Social sharing buttons पोस्ट के center में या तो starting में लगाए.

 12 – PUBLISH LONG END DEFTH CONTENTS : on page seo checklist 2020

आप सभी को पता हे की google ज्यादातर उसे ही प्रोमोट करता हे जो ज्यादा डीप(Deep) content लिखता हे और उसे ही ज्यादा वैल्यू मिलती हे और प्रोमोट करता हे.

एक research के अनुसार google पर search होने वाला हरेक आर्टिकल जो top 10 में आता हे उसे में minimum 1800+ words का ही होता हे.

Conclusion : Try करो की हरेक पोस्ट की limit 1500+ words का हो. जिसे आप जल्दी rank कर पावोगे.

13 – IMAGE OPTIMIZATION : on page seo checklist 2020

आपके पोस्ट को अच दिखना और अचेसे ऑप्टिमाइजेशन करने के लिए आपको image ऐड करना चाहिए.

image होने से आपकी वेबसाइट या ब्लॉग की वैल्यू बढ़जाती हे googleमें और आपका कंटेंट rank होने का CHANGE बढ़ जाता हे.

Conclusion : Add your images/photos with keyword-rich(Targeted keywords) alt text

14 – IMPROVE CONTENT FORMATTING : On page Seo Checklist 2020

ये भी बहोत important हे अगर आपको User In-traction बड़ानी हे आपने ब्लॉग में तो.

Formatting में सबसे जरुरी हे आपकी Themes आपने केसी चुनी हे. उस पर पूरा आधार रहेता

अगर आपको अच्छे Formatting वाली साईट देखना हो तो कोई भी न्यूज़ वेबसाइट देख सकते हे.

Conclusion : make वेबसाइट with Good Formatting

15 – IMPROVE CTR : On page Seo Checklist 2020

अगर आपके वेबसाइट पर अच्छे IMPRESSION आ रहा हे लेकिन कोई क्लिक नहीं कर रह हे तो उस impression का कोई फ़ायदा नहीं हे.

CTR बढ़ा ने के लिए आपको बहोत अच्छा Title और Featured image लगनी पड़ेगी जिसे की लोग देख ते ही क्लिक करे.

Eye catchy Headline जरुररी हे CTR बढ़ने के लिए

Conclusion : Write Eye catchy Headline और Best Featured image बनाये.

आगर यह मेरा On page seo checklist : 15 on page Seo checklist in hindi in india 2020 – Derdigit आर्टिकल आपको केसा लगा आप मुजे कमेंट्स में जरुर बताये.

अगर आप इसे ही आर्टिकल कहते हो तो हमें कमेंट कर के बताये और हमें सोशल मीडिया पर फॉलो करे… Thanks for reading….

JAY HIND